अश्वगंधा – कायाकल्प करने वाला आयुर्वेद का एक रसायन (Ashwagandha – An Ayurveda Rasayana with Rejuvenating Quality)

आयुर्वेद में रसायन औषद्यि को कायाकल्प (Rejuvenating) करने वाली औषद्यि कहा जाता है। कायाकल्प (Rejuvenating) का मतलब समझें तो यौवन बना रहना, बीमारियां  न होना  (strong immune system), दीर्घ आयु होना, शरीर और चेहरे पर तेज, स्मरण शक्ति बनी रहे, तेज दिमाग इत्यादि। अश्वगंधा (Ashwagandha) जिसका रासायनिक नाम (Withania somnifera)है इन्ही रसायनो में से एक …

कोरोना जैसे इन्फेक्शन से बचने के लिया क्या च्यवनप्राश लेना सही है?(Is it right to take Chyawanprash to avoid infection like Corona)

COVID-19 महामारी या इसे कोरोना वायरस महामारी (corona virus epidemic) भी बोल सकतें है, से सभी डरे हुए है इसकी बहुत बड़ी वजह इसकी कोई दवाई (Vaccine) ना होना है। डॉक्टर्स अलग अलग दवाई को मिलकर इसके इलाज में उपयोग कर रहे है परन्तु इस रोग को जो पूरी तरह से खत्म कर सके और …

खाना पकाने के तेल के स्मोक पॉइंट का क्या अर्थ है और यह क्यों महत्वपूर्ण है (What is the meaning of smoke point of cooking oil and why it’s important?)

जब आप खाना पकाने के तेल को खरीदते है तो इस तरह के बहुत से सवाल आपके दिमाग में आते होंगे जैसे : खाना पकाने के तेल का स्मोक पॉइंट (smoke point) का क्या मतलब होता है? कौन सा तेल सही है? क्या आपका खाने का तेल आपके लिए सही है? तेल को एक बार …

जड़ी बूटी जो आपको कैंसर और सूजन से बचाता है।(Herb that protects you from cancer and inflammation.)

Knowledge about herb – Turmeric (root), curcuma, Yellow Root or Haldi जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान की शृंखला में आज हम आपको हल्दी (Turmeric) के बारे में बताएँगे। ये एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट जड़ी बूटी है जो भारत में हर घर की रसोई में मसाले के रूप में मिल जाती है। हिन्दुस्तान के हर घर …

जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान -तुलसी (Knowledge about herb – Tulsi)

Knowledge about herb – Tulsi आज से हम एक नयी शृंखला शुरू कर रहे है जिसका नाम है जड़ी बूटी के बारे में ज्ञान! इसमें हम आपको हर तरह की जड़ी बूटी के औषधीय गुणों के बारे में विस्तार से बतायंगे। हमारे देश में बहुत सी जड़ी बूटी पैदा होती है जो एक से बढ़कर …

स्वास्थ्य दोहावली – Health Dohawali

पानी में गुड डालिए, बीत जाए जब रात! सुबह छानकर पीजिए, अच्छे हों हालात!! धनिया की पत्ती मसल, बूंद नैन में डार! दुखती अँखियां ठीक हों, पल लागे दो-चार!!

प्राचीन आयुर्वेदा के अनुसार हमारा शरीर कितने प्रकार का होता है।

आज हम ये बतायेगे के हमारा शरीर (Human body type) आयुर्वेद(Ayurveda) के सिद्धांत के अनुसार कितने प्रकार का होता है। आयुर्वेद में मानव शरीर (Human body)की रचना का अध्यन उसके सारतत्व के आधार पर किया जाता हैं। आयुर्वेद के अनुसार मानव शरीर में निम्नलिखित की उपस्थिति होती है ।

%d bloggers like this: