Cashless india

Purchase and Sale Cashless

आज भारत में कैशलेस(cashless) खरीद फरोख्त पर सरकार बहुत बड़ा अभियान चला रही है परन्तु अभी भी बहुत लोगो को ये समझ नहीं आ रहा है कि वो कैसे बिना नगद के खरीदारी कर सकते है या बिना नगद लिए कैसे बिक्री कर सकते है। अधिकतर लोगो को यही समझ आता है कि कैशलेस खरीद फरोख्त के लिए आपके पास खरीदारी करने के लिए कार्ड और बिक्री के लिए स्वैप मशीन मतलब कार्ड चलने वाली मशीन होनी चाहिए। परन्तु इसके आलावा बहुत से तरीके है जिससे आप बिना नगदी खरीद फरोख्त कर सकते है।
आज हम आपको उन सब तरीको को बताएँगे जिसे आप सभी भारत को कैशलेस अर्थव्यवस्था में मदद कर सकते है।

बैंक कार्ड द्वारा भुगतान करना

ये सबसे ज्यादा उपयोग में लाये जाने वाला तरीका है जो अधिकतर सभी लोगो को पता होता है कि आपके पास बैंक का कार्ड हो तो आप उससे बिना नगदी के भुगतान कर सकते है।
जब आप अपना खाता बैंक में खोलते है तो आपको आपके खाते से कार्ड दिया जाता है। अब ये कार्ड तीन तरह के होते है।

  1. प्रीपेड कार्ड्स (Prepaid Cards)
  2. डेबिट कार्ड्स (Debit Cards)
  3. क्रेडिट कार्ड (Credit Cards)

१. प्रीपेड कार्ड्स (Prepaid Cards)- ये कार्ड्स किसी भी वित्तीय संस्था द्वारा जारी किया जाता है जिसमें से पहले से पैसे डाल कर दिए जाते है मतलब इसमें जितने पैसे होते है आप उतने ही खर्च कर सकते है। इसके लिए बैंक में आपका खाता होना जरुरी नहीं है। आप जितने पैसे देते है उतने ही पैसे आपके कार्ड में दाल दिए जाते है।

२. डेबिट कार्ड्स (Debit Cards)- ये कार्ड्स बैंक आपके खाते के साथ देता है ये कार्ड आपके बैंक खाते से जुड़ा होता है। आप इसको किसी भी तरह की कैशलेस भुगतान के लिए प्रयोग कर सकते है। आपके बैंक खाते के अनुसार इसमें प्रतिदिन पैसे खर्च करने की सीमा होती है। इसके लिए आपके खाते में पैसे होने जरुरी है आप अपने खाते में रखे पैसे से ज्यादा खर्च नहीं कर सकते है।

३. क्रेडिट कार्ड (Credit Cards)- ये कार्ड्स बैंक अपने ग्राहकों या आपकी आमदनी के अनुसार आपको देता है। इसके लिए जरुरी नहीं के आपके खाते में पैसे हो। इस कार्ड को बनाते समय आपकी आमदनी को देखते हुए इन कार्ड्स में आपको खर्च करने की सीमा दी जाती है जिसका भुगतान आप तय सीमा में कर सकते है। किन्तु जिस समय आप खरीदारी करते है उस समय आप के पास से कोई पैसा नहीं जाता है। अलग-अलग बैंक और अलग-अलग क्रडिट कार्ड्स की पैसे वापिस करने की सीमा अलग-अलग होती है।

यूएसएसडी द्वारा भुगतान करना USSD (Unstructured Supplementary Service Data) based payment

ये मोबाइल बैंकिंग करने का एक तरीका है इसके लिए आपके पास बैंक का खाता होना चाहिए और आपके पास एक चालू मोबाइल जिसमें एक सिम कार्ड हो होना जरुरी है। इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसके लिए आपके मोबाइल में इन्टरनेट का कनेक्शन होना जरुरी नहीं है। आप इसके जरिये पैसे किसी को भी उसके खाते में भेज सकते है, अपने खाते की शेष बची राशि का पता कर सकते है, अपने खाते की छोटी स्टेटमेंट प्राप्त कर सकते है।

इसका एक नंबर होता है जो आपको अपने मोबाइल से डायल करना पड़ता है। नंबर है *99# . ये एक तरह से वही तरीका है जैसे आप अपना मोबाइल का बैलेंस चेक करते है। यह सर्विस आप उसी मोबाइल नंबर से कर सकते है जो आपके बैंक खाते के साथ लिंक यानि रजिस्टर है। लगभग सारे बैंको में जैसे एसबीआई, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी, पीएनबी, एक्सिस और बैंक ऑफ़ बरोडा में ये सर्विस है। यूएसएसडी मोबाइल बैंकिंग में क्षेत्रीय भाषा का समर्थन भी है जैसे हिन्दी(Hindi)के लिए(*99*22#), मराठी(Marathi) के लिए(*99*28#), बंगाली(Bengali)के लिए (*99*29#), पंजाबी (Punjabi)के लिए (*99*30#), कन्नड़ (Kannada)के लिए (*99*26#), गुजरती (Gujarati)के लिए (*99*27#), तमिल (Tamil)के लिए (*99*23#), तेलगु(Telugu)के लिए (*99*24#), मलयालम(Malayalam)के लिए (*99*25#), उड़ि‍या(Oriya)के लिए (*99*32#) और असमी(Assamese)के लिए (*99*31#) ये नंबर्स डायल करने पड़ेंगे।

कैसे इस्तेमाल करे-

  1. पहली बात आप उस मोबाइल नंबर से ही ये काम कर सकते है जो आपने अपना बैंक खाता खुलवाते समय बैंक में दिया था मतलब जो आपके बैंक खाते के साथ लिंक यानि रजिस्टर है।
  2. इसके बाद आपको MMID (Mobile Money Identifier) और MPIN (Mobile Pin) मोबाइल पिन की जरुरत पड़ती है जो आपको आपका बैंक देता है।
  3. आपने मोबाइल से *99# डायल करें अगर आपको अपनी भाषा में मोबाइल बैंकिंग करनी है तो ऊपर दिए कोड में अपनी भाषा का कोड देख कर उससे डायल करें
  4. आपको एक वेलकम स्क्रीन नजर आएगा जहाँ लिखा होगा कि अपने बैंक के नाम के पहले 3 अक्षर लिखें या उसके IFSC कोड के पहले 4 अक्षर लिखें या बैंक के कोड के पहले 2 अक्षर लिखें और सेंड कर दें। जैसे आपके बैंक का नाम ICICI है तो आप इस ICI लिख कर भेज सकतें है।
  5. इसके बाद आपको एक लिस्ट मिलेगी जिसमें अलग-अलग सेवाओं के लिए विकल्प होंगे। अब हमें पैसे भेजने हैं तो उसके लिए आपके पास यहाँ पर 2-3 विकल्प आते है। इसमें से MMID वाला विकल्प चुने।
  6. इसके बाद वाले स्क्रीन में आपको जिसके खाते में पैसे भेजने है उसका मोबाइल नंबर डालना होगा उसके बाद उसका MMID नंबर और जितना पैसा भेजना है वो डालना होगा।
  7. इसके बाद आपको अपना MPIN डालना होगा उसके साथ एक स्पेस देकर आपने खाता नंबर के पीछे वाले 4 नंबर डालना होगा। जैसे अगर आपका MPIN है 0909 और आपके बैंक के खाते का नंबर है 001234567879. तो आपको डालना होगा 0909 7879. और भेज देना है।

इस तरह आप USSD के प्रयोग से पैसे किसी के भी बैंक खाते में भेज सकतें है। इसमें एक बार में आप 1 रुपया से लेकर 5000 रुपये तक भेज सकतें हैं।

Unified Payments Interface (UPI) के द्वारा भुगतान करना

UPI एक तुरंत ऑनलाइन भुगतान प्रणाली हैं ये एसएमएस(sms) भेजने जैसे ही सरल तरीका है जिससे आप बैंक से बैंक किसी के भी खाते में पैसे भेज सकते है। इसके लिए आपको जरूरत है आपने बैंक खाते की जानकारी और एक इन्टरनेट की सुविद्या के साथ मोबाइल फ़ोन होना चाहिए।

यह प्रणाली भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) – The National Payments Corporation of India (NPCI) ने बनायीं है। अप्रैल में ये लायी गयी थी परन्तु तब इसके बारे में ज्याद लोगो को पता नहीं था और बैंको ने इसको ज्याद प्रयोग में भी नहीं लाया था परन्तु नवम्बर 8, 2016 को जब सरकार (BJP Govt.) ने 500 और 1000 के नोटों पर रोक लगा कर ऑनलाइन भुगतान प्रणाली पर जोर दिया तो सारे बैंको ने आपने यहाँ इसको प्रयोग में ला दिया। आज लगभग 28 बैंको की एप (APP) आपको मिल जाएँगी। SBI app, PNB UPI, UPI Collect (ICICI), Axis Pay, Canara Bank UPI, UCO UPI, Union Bank UPI, OBC UPI और इसके आलावा 20 और बैंको की एप (app) उपलब्ध है। आप अपने स्मार्ट फ़ोन में ये अपने बैंक की एप डाउनलोड कर सकते है।

कैसे इस्तेमाल करे-

  1. आपको अपने मोबाइल में अपने बैंक की आप डाउनलोड करनी होगी और अपने को रजिस्टर करना होगा। रजिस्टर करने के लिए आपको अपना नाम, ईमेल और मोबाइल नंबर डालना होगा। इससे आप एक PIN उत्पन्न कर पाएंगे जिससे आप इस आप में लॉगिन कर पाएंगे
  2. अपनी एप APP में सबसे पहले आपको अपना Virtual Payment Address (VPA) सेट करना होगा जो आपकी unique ID होगी। जब कोई आपको पैसे भेजेगा तो उसको आपको ये unique ID देनी होगी या आप किसी को पैसे देंगे तो उसकी unique ID आपको लेनी होगी। तो आपको अपना VPA सेट करना होगा जिसे आप अपने नाम, मोबाइल नंबर से सेट कर सकते है। ये एक तरह से ईमेल आईडी सेटअप करने जैसा है। जैसे [email protected]ici, और [email protected]
  3. इसके बाद आपको अपना M-PIN सेट करना होता है जो पैसे भेजते समय काम आता है।
  4. इस रजिस्ट्रेशन को पूरा करने के बाद अगर आपको किसी को पैसे भेजने है तो अपनी एप से सेंड मनी (Send Money) सेलेक्ट करें। और जिस को पैसे भेजने हैं उसका VPA (Virtual Payment Address) डालें। जितने पैसे भेजने है वो लिखें। फिर आपको पुष्टि करना होगा के सब सही है और फिर अपनी M-PIN डालें तो पैसे तभी ट्रान्सफर हो जायेंगे।

इस तरह आप Unified Payments Interface (UPI) के प्रयोग से पैसे किसी के भी बैंक खाते में भेज सकतें है। इसमें एक बार में आप 1 रुपया से लेकर 100000 रुपये तक भेज सकतें हैं।

डिजिटल वॉलेट (e-wallet) के द्वारा भुगतान करना

ये भुगतान करने का एक नया तरीका है। इसके लिए आपको अपने स्मार्ट फ़ोन में डिजिटल वॉलेट (e-wallet) की एप(APP) डालनी होगी और आपके पास मोबाइल में इन्टरनेट का कनेक्शन होना चाहिए। ये आपके बटुआ जैसा ही है जैसे आप आपने बटुए में पैसे रखते है वेसे ही इसमें भी पहले से पैसे डालने पड़ते हैं।

आज बहुत सी जगह पर इन डिजिटल वॉलेट से भुगतान हो जाता है आपको अपना बटुआ नहीं रखना पड़ता, आपको अपने बैंक के कार्ड्स नहीं ले जाने पड़ते बस आपका मोबाइल ही आपका सब काम कर देता है।
आज बहुत सी एप आप को मिल जाएगी काफी बैंको ने भी अपने डिजिटल वॉलेट (e-wallet) शुरू कर दिए है। जैसे आईसीआईसीआई(ICICI) का Pockets, स्टेट बैंक(State Bank) का Buddy, सिटी बैंक (Citi Bank) का MasterPass, HDFC का chillr और PayZapp, एक्सिस बैंक (AXIS Bank) का Lime हैं। इसके अलावा और भी बहुत से डिजिटल वॉलेट (e-wallet) है जो बहुत प्रयोग किये जा रहे है जैसे
PayTm, Freecharge, MobiKwik, Oxigen Wallet, Citrus Pay, mRupee, Airtel Money, Vodafone M-pesa, PayuMoney और भी बहुत है।

कैसे इस्तेमाल करे-

  1. पहले आपको कोई भी डिजिटल वॉलेट (e-wallet) वाली एप अपने मोबाइल में इनस्टॉल करनी होगी और अपने को उसमें रजिस्टर करना होगा।
  2. आपको अपने डिजिटल वॉलेट (e-wallet) में पैसे डालने होंगे जो आप अपने डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या सीधा नेट बैंकिंग से डाल सकते है।
  3. इसके बाद आप जिसके भी पास ये एप होगी या जिन कंपनियों का इस एप के साथ गठबधन होगा उनका भुगतान इससे कर सकते है।

इन डिजिटल वॉलेट (e-wallet) को प्रयोग करने का एक और फायदा आपको मिलता है ये सभी कंपनियां अपने ग्राहक को बढ़ाने के लिए नए नए ऑफर, बड़ी बड़ी छूट, पैसे वापिस देने वाले ऑफर्स चलते रहते है जिसे आपको अपनी हर खरीद पर फायदा होता है। और एक फायदा आप अपने रिश्तेदारों, अपने बच्चों को, या अपने माता-पिता को जो आप से दूर रहते है एक क्लिक से पैसे भेज सकते है उन्हें बैंक में जाने की जरुरत नहीं है वे भी इन डिजिटल वॉलेट (e-wallet) का प्रयोग करके अपनी खरीद फरोख्त आराम से कर सकते है।

ये सभी तरीको से आप बिना नगदी रखे आपने भुगतान कर सकते है दुकानदार भी इनकी सहायता से अपने पैसे ग्राहक से ले सकते हैं।

अगर आपको हमारा ये लेख – “बिना पैसे दिए कैसे करे खरीद फरोख्त (How to purchase and sale cashless)” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।

9 Comments

  1. वाह क्या दिमाग है आपका ।

  2. बोहोत बढ़िया जानकारी है जी।

    1. जिस भी बैंक में मोबाइल बैंकिंग (Mobile Banking Service) सेवा होती है उन सभी में आप USSD का प्रयोग कर सकते है। ग्रामीण बैंक में मोबाइल बैंकिंग है या नहीं ये आपको बैंक में कॉल करके पता करना चाहिए। ussd तभी काम करता है जब आपके अकाउंट के साथ आपका मोबाइल नंबर लिंक होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: