sweating and weight lose

जितना ज्यादा पसीना (excessive sweating) आएगा उतना ज्यादा फैट कम होगा, ज्यादा पसीना निकलेगा तो जल्दी वजन कम होगा, ज्यादा पसीना आना मतलब ज्यादा कैलोरी जलाना – ये सब बातें या धरणाये सब गलत है। पसीने(sweating) का और चर्बी कम (fat loss) या वजन कम होने का आपस में कोई संबंध नहीं है।

मैं बहुत से लड़को को देखता हूँ जो जिम जाते है तो काफी मोटे कपडे पहने हुए ऐसे कपडे जिनमें उन्हें ज्यादा पसीना आये। अगर उनके जिम में AC है तो वो उसको उच्च तापमान पर कर देते है और अगर पंखे है तो उसको बंद कर देते है जिससे व्यायम करते हुए उन्हें ज्यादा पसीना(sweating) आये। उनको लगता है ज्यादा पसीना आने (excessive sweating) से उनका फैट कम होगा और उनकी मसल्स यानि मांसपेशियों में ज्यादा डेफिनेशन आएगी।

कुछ लोग जॉगिंग में भी ऐसे कपडे पहनते है जिनसे उनका शरीर पूरा कवर हो जाए और कम मेहनत से भी उनको खूब पसीना आये और उनके अनुसार पसीना आ रहा है तो फैट कम हो रहा है।

इंटरनेट इस सवाल से भरा पड़ा है सब लोगो को इस बात से उलझन है कि क्या ये बात सही है वो इन सब लोगो को पार्क में, जिम में अपने आस-पास देखते है और उनको लगता है शायद ये काम करता है। टीवी पर इस फॉर्मूले के अनुसार प्रोडक्ट भी आते है जैसे सोना बेल्ट इसका एक उदाहरण है। इन सब प्रोडक्ट्स की कम्पनिया भी यही बोलती है आप कुछ मत करिए हमारा प्रोडक्ट आपके शरीर से पसीना निकलेगा और आपका वजन कम हो जायेगा।

पसीना क्यों आता है- हमारे शरीर का सामान्य तापमान 37 डिग्री सेल्सियस (98.6 डिग्री फ़ारेनहाइट) होता है। इस तापमान को बनाये रखने के लिए हमारा दिमाग शरीर की पसीने निकलने वाली ग्रंथियों को सक्रिय करता है। जिससे शरीर का तापमान ज्यादा ना बढे और शरीर ठंडा रहें।
जब आप व्यायम करते है जिम में वर्कआउट करते है जॉगिंग करते है या कोई भी शारीरिक श्रम करते है तो आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है तो शरीर में पसीना आता है जिसे उसका सामान्य तापमान बना रहें।

आपको ज्यादा पसीना आता है इसका मतलब है आपने ज्यादा मेहनत की है अच्छा वर्कआउट किया है पर ये आपके फैट को आपके वजन को कम कर रहा है ये आप अपने दिमाग से निकल दे। ज्यादा पसीने (excessive sweating) आने से आपके शरीर में पानी की कमी होती है क्योकि पानी ही आपके शरीर से निकल रहा होता है न की आपका फैट या चर्बी। इसलिए ही कहा जाता है अपने व्यायाम में थोड़ा थोड़ा पानी पीते रहना चाहिए जिसे आपका शरीर में पानी की कमी (dehydration) ना हो।

फैट कम होना या वजन कम होने की प्रक्रिया में पसीने की कोई भूमिका नहीं है इसके प्रक्रिया में जो परिश्रम हम करते है पसीना उसके कारण आता है।

 

आपको अगर अपना वजन कम करना है या अपने शरीर से फैट कम करना है तो आप हमारी शृंखला “वजन कैसे कम करें” पढ़ सकते है।

 

अगर आपको हमारा ये लेख – “क्या ज्यादा पसीना आने से मोटापा जल्दी कम होता है ? (Does Excessive Sweating Make You Lose Fat Fast?)” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।

3 Comments

  1. ye tu aapne bahut badi myth hi khatam kar diya.. mujhe lagta hai sabhi yahi samjhte hai ki jada sweating ka matlab fat cut raha hai. kya aap ka koi youtube channel bhi hai ?. main aap k jaise qualify logo ko follow karta hoon kam se kam jo batate hai usko kuch matlab tu hota hai
    Thanks
    satyawan singh

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: