Best Toothpaste available in India

कौन सा टूथपेस्ट मेरे लिए सही है?- Best Toothpaste for me

क्या हमारा टूथपेस्ट हमारे बच्चों के लिए सही है?- Best Toothpaste for my children

भारत में मिलने वाले सबसे अच्छे टूथपेस्ट कौन-कौन से है?- Best Toothpaste available in India

हर्बल टूथपेस्ट प्रयोग करें या जो सबसे ज्यादा बिकते है उन्हें?

जो लोग अपनी सेहत को लेकर जागरूक होते है वे अपने खाने पर बहुत ध्यान देते है परन्तु कभी कभी कुछ ऐसी छोटी चीजों को नज़रअंदाज़ कर जाते है जिनका अच्छी सेहत बनाए रखने में बहुत बड़ा हाथ होता है। ऐसी ही एक ध्यान देने वाली चीज है आपका टूथपेस्ट।

भारत में मिलने वाले ज्यादातर लोकप्रिय टूथपेस्ट (Toothpaste) जैसे Colgate, Close-up, Meswak , Pepsodent, Sensodyne, Patanjali, इत्यादि सभी केमिकल्स से भरे हुए है जिनसे आपको आपकी सेहत में सिर्फ नुकसान के अलावा कुछ नहीं मिल रहा। अब आप बोलेंगे अगर ये इतने ही ख़राब है तो भारत के घर-घर में ये क्यों मिलते है?

इसलिए क्योकि टूथपेस्ट एक ऐसी चीज है जिसको लेते समय हम कभी भी इस बात पर ध्यान नहीं देते कि उसमें क्या घटक(ingredient) है मतलब उसको बनाने के लिए क्या क्या डाला गया है हम टूथपेस्ट (Toothpaste) वही लेते है जिसका विज्ञापन (advertising) हमें अच्छा लगता है या अपनी जरुरत के अनुसार सही लगता है।

जैसे अगर आपके दांतो में ठंडा-गरम लगता है तो Sensodyne लेंगे, दांतो में सफेदी लानी है तो Colgate, फ्रेश सांसे तो Close-up, आयुर्वेदिक हर्बल चाहिए तो Patanjali या Meswak, Himalaya herbals और भी बहुत सारे। या फिर हमारे दांतों का डॉक्टर जो बता देता है वो लेते है।

अगर आप अपनी सेहत को लेकर जागरूक है तो खाने की चीजों के लेवल को तो चेक कर लेते है कि इसमें क्या क्या है क्योकि उसको आपको खाना है परन्तु टूथपेस्ट लेते समय ये सब भूल जाते है।

मैं आपको एक बात बता देना चाहता हूँ कि ये जरुरी नहीं है कि जब तक आप किसी भी चीज को निगलते नहीं है तब तक वो आपको हानि नहीं पहुंचा सकती है अगर आपके मुँह में कोई भी पदार्थ जाता है तो बिना निगलें हुए भी वो आपके खून में मिल सकता है। अब अगर वो कोई हानिकारक केमिकल हो तो फिर बात अत्यधिक चिंता वाली है।

ज्यादातर मार्किट में मिलने वाले टूथपेस्ट (Toothpaste) पर चेतावनी लिखी होती है कि इसको निगलना नहीं है साथ ही साथ ये भी लिखा होता है की 6 से 12 साल तक के बच्चे प्रयोग ना करें या डॉक्टर से पूछ कर ही करें, क्यों ?

ऐसा क्यों लिखा होता है और मैं आप से एक सवाल पूछता हूँ कितने घर है जहाँ बड़ो के लिए अलग टूथपेस्ट (Toothpaste) होता है और छोटे बच्चो के लिए अलग। मुझे तो लगता है शायद ही कोई घर होगा वरना ज्यादातर घरो में सब लोग बच्चो से लेकर बड़े और बूढ़े एक ही टूथपेस्ट प्रयोग करते है और उसपर लिखी चेतावनी को ऐसे नजरअंदाज कर दिया जाता है जैसे धूम्रपान करने वाले सिगरेट के पैक पर लिखीं चेतावनी को नजरअंदाज कर देते है। इस बारे में सोचो अगर ये सुरक्षित होते तो इन पर चेतावनी क्यों डाली जाती?

मैं आपको बताता हूँ इनमें ऐसा क्या होता है जो ये आपके लिए सुरक्षित होने की वजह बहुत ज्यादा हानिकारक है।

1. Sodium Lauryl Sulfate (SLS)-
यह ज्यादातर टूथपेस्ट में पाया जाने वाला केमिकल है और आपको ये जान कर हैरानी होगी कि इस केमिकल का मुख्यता प्रयोग डिटर्जेंट (detergent) में झाग और ज्यादा सफाई के लिए किया जाता है। काफी रिसर्च में पाया गया कि इसके प्रयोग से मुँह के अल्सर होने की संभावना हो सकती है। इसके अलावा लम्बे समय तक प्रयोग करते रहने से ये हमारे लिवर, फेफड़ों में भी जमा होता रहता है जिसके बहुत ही बुरे प्रभाव हो सकते है।

2. Fluoride-
ये दूसरा सबसे ज्यादा टूथपेस्ट में पाया जाने वाला केमिकल है। इसका काम है दांतो की सड़ने से बचाना। परन्तु यही वह केमिकल है जिसकी वजह से टूथपेस्ट (Toothpaste) के पैक पर बच्चों के लिए चेतावनी लिखी होती है कि अगर बच्चा टूथपेस्ट को निगल लें तो तुरन्त उसको डॉक्टर के पास ले जाए क्योकि ये एक तरह का जहर है। बताया जाता है अगर किसी इंसान को 2.5gm से 3gm तक Fluoride दे दिया जाए तो उसकी जान जा सकती है। अगर यह हमारे टूथपेस्ट में रहेगा तो धीरे-धीरे ये हमारे मुँह से हमारे खून में जाता रहेगा और भविष्य में कोई ना कोई बीमारी बना देगा।

3. Sodium Saccharin-
यह वही केमिकल है जिसकी वजह से आपको अपना टूथपेस्ट मीठा लगता है। ये एक ऐसा पदार्थ है जिस से मूत्राशय कैंसर होने का खतरा रहता है। यही नहीं अगर इसकी ज्यादा मात्रा का प्रयोग किया जाए तो ब्रेन ट्यूमर और लिम्फोमा जैसी बीमारियां होने की संभावना हो सकती है।

4. Artificial colors-
कोई टूथपेस्ट लाल होता है कोई नीला कोई मिक्स रंगो वाला। ये सारे रंग जिन केमिकल्स से बनाये जाते है उन्हें ही Artificial colors बोलते है। रिसर्च में पाया गया है इस तरह के केमिकल्स से बच्चों में hyperactivity and ADHD जैसी परेशानिया हो सकती है।

5. Preservatives-
यह एक तरह का पदार्थ या एक केमिकल होता है जो बहुत से खाद्य उत्पाद, पेय पदार्थ, दवा दवाएं, पेंट इत्यादि में मिलाया जाता है जिस से ये जल्दी से ख़राब नहीं होते है। टूथपेस्ट में भी Preservatives का प्रयोग किया जाता है जिनमें कुछ नाम जैसे- Sodium benzoate, methylparaben, और ethylparaben है। इनसे Hypersensitivity, Asthma, और Cancer जैसी बीमारियां होने का खतरा रहता है।

कौन सा टूथपेस्ट मेरे लिए सही है? या सबसे अच्छे 4 टूथपेस्ट (Toothpaste) जो हम भारत में ले सकते है- 4 Best Toothpaste available in india

मैं आपको 4 सबसे अच्छे टूथपेस्ट (Best Toothpaste) बता रहा हूँ जिनको आप ले सकते है जिनमें ज्यादा नुक्सान पहुंचने वाले केमिकल्स नहीं है। थोड़े बहुत इसमें Preservatives हो सकते है परन्तु वे भी ऐसे ही जिनसे आपको कुछ ख़ास नुक्सान नहीं होगा। इसके बाद मैं आपको कुछ दंत मंजन बताऊंगा जो बिना Preservatives के आते है अगर आप दंत मंजन का प्रयोग कर सकते है तो वे भी ले सकते है।

Biotique 4 Clove and Tulsi Complete Care Toothpaste

Biotique 4 Clove and Tulsi Complete Care Toothpaste
Buy Now

Bentodent Natural Toothpaste

Bentodent Earthy Natural Toothpaste
Buy Now

Biomed Propoline Natural Toothpaste

Biomed Propoline Natural Toothpaste
Buy Now

Vicco Vajradanti Ayurvedic Paste

Vicco Vajradanti Ayurvedic Paste
Buy Now

Terrabrush – Happy Mouth Happy Earth Activated Charcoal Powder

Terrabrush - Happy Mouth Happy Earth Activated Charcoal Powder
Buy Now

Dabur Lal Dant Manjan

Dabur Lal Dant Manjan
Buy Now

Patanjali Advance Dant Kanti Manjan

Patanjali Advance Dant Kanti Manjan
Buy Now

Ancient Living Organic Tooth Powder

Ancient Living Organic Tooth Powder
Buy Now

Baidyanath Lal Dant Manjan

Baidyanath Lal Dant Manjan
Buy Now

अगर आपको हमारा ये लेख – “क्या आपका टूथपेस्ट आपके लिए सही है- Which is the Best Toothpaste For You?” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।

1 Comment

  1. मैं अपना टूथपेस्ट बदलने जा रहा हूं। आप का धन्यवाद आप ने हमें एजुकेट किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: