How to Increase Your Height

लम्बाई कैसे बढ़ाये? | How to increase your height?

क्या जवान होने के बाद भी लम्बाई बढ़ (increase your height) सकती है?

क्या इँसान की कद उसके माता पिता के कद पर निर्भर होता है?

सभी माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्चे लम्बे कद के हो जाएं क्योंकि लम्बे कद के युवक/युवती आकर्षक और सुडौल दिखते है। शायद ही कोई ऐसा होगा जो लम्बा कद नहीं चाहता होगा परन्तु अगर सब के सपने साकार हो सकते तो शायद इस दुनिया में कोई भी 6 फुट से कम लम्बा नहीं होता। हमारे शरीर में कद का बढ़ना शारीरिक विकास का एक ऐसा हिस्सा है जिस पर मनुष्य का पूरा नियंत्रण नहीं है।

इंसान का कद बढ़ना (Increase Your Height) उसके शारीरिक विकास का एक मत्वपूर्ण हिस्सा होता है। शारीरिक विकास माँ के कोक से शुरू होकर तब तक जारी रहता है जब तक मनुष्य पूर्ण रूप से विकसित युवक नही बन जाता है। मनुष्य का कद कुछ हद तक उसके अनुवांशिक रचना पर निर्भर करता है। इसके अलावा आपका आहार, जीवन शैली तथा स्वास्थ्य भी आपके कद को निर्धारित करते है।

आपके माता पिता के अनुवांशिक रचना के योग से आपके अनुवांशिक रचना (genetics) का निर्माण होता है। इसी कारण से उनके कद का आपके कद से बहुत गहरा सम्बन्ध होता है। शायद यही कारण है कि ज्यादातर लम्बे कद वाले माता पिता के बच्चों का कद भी अच्छा होता है और कम कद वाले माता पिता के बच्चों का कद भी कम होता है। मगर यह कोई पत्थर की लकीर नहीं है।

एक बच्चे का कद कब बढ़ता है?
किसी भी व्यक्ति के कद बढ़ने की प्रक्रिया को स्पष्ट रूप से बताना मुश्किल होगा। कई सालों के रिसर्च के बाद इस बात का पता चला है कि ज्यादातर लोगों में कद किस समय बढ़ता है परन्तु यह जरूरी नही कि हर बच्चे का विकास उस ही तरीके से हो। किसी निर्धारित समय पर हर बच्चे का कद एक जैसे नही बढ़ता। पैदा होने के कुछ महीनों तक हर बच्चा बहुत जल्दी बढ़ा होता है। जब बच्चा बचपने के मध्य स्तर पर होता है तो उसके कद का विकास इस तीव्रता से नही होता है। जब बच्चा अपने यौवन काल में पहुँचता है तब उसके कद के बढ़ने की गति फिर से तीव्र हो जाती है। इसके बाद कद या लम्बाई बढ़ने की क्रिया धीमी होने लगती है और कुछ समय बाद पूरी तरह से रूक जाती है।

कद कैसे बढ़ता है?(Increase Your Height)
यौवन काल में सेन्ट्रल नर्वस सिस्टम (बीमारियों से लड़ने वाला शारीरिक हिस्सा) और एंडोक्राइन ग्लैंड (Endocrine glands) (पिट्यूटरी, थाइरोइड और एड्रेनल ग्लैंड) की उत्तेजना से मनुष्य का कद बढ़ता है। इस उत्तेजना से शरीर में गोनडोट्रोफिन(Gonadotropins) का निर्माण बढ़ जाता है जो शारीरिक विकास बढ़ाने वाले हार्मोन का निर्माण बढ़ा देते हैं। इन हार्मोन तथा अन्य शारीरिक क्रियाओं पर ही किसी युवक का कद निर्भर करता है।

क्या कद बढ़ाया जा सकता है?
कई माता-पिता बच्चे में यौवन काल के बदलाव देर से नजर आने के कारण चिन्तित हो जाते हैं। आजकल बच्चे भी कद ना बढ़ने के कारण बहुत शीघ्र तनाव में आ जाते हैं। कई बच्चे अपने क्लास के अन्य बच्चों के जितना कद ना होने के कारण खेल कूद में रूची लेना बंद कर देते हैं। कुछ बच्चे जिम में जाकर जोरदार व्यायाम रूटीन भी आरम्भ कर लेते हैं। मगर जिम जाकर मेहनत करने का तब तक कोई खास परिणाम नही नजर आता है जब तक यौवन काल आरम्भ होने के पश्चात उनके शरीर में टेस्टोस्टेरॉन (Testosterone) (पुरुषों में प्राकृतिक रूप से निर्माण होने वाला सेक्स हार्मोन) की मात्रा बढ़ने ना लग जाए।

कई युवक कद बढ़ाने (Increase Your Height) के लिए इतने उत्सुक होते हैं कि वो दवाइयों या हार्मोन की मदद लेते हैं। वैसे तो कई बार इन दवाइयों या हार्मोन से कद बढ़ने की क्रिया कुछ हद तक तेजी पकड़ लेती है मगर वैज्ञानिकों ने पाया कि अन्त में वो उसी कद का शीघ्र पाते हैं जो वो प्राकृतिक रूप से कुछ समय बाद पाने वाले थे। अर्थात चाहे आप दवाईयों का सहारा लें या ना लें आपका कद वही होगा जो आपके अनुवांशिक रचना द्वारा निर्धारित की गई है। दवाइयों से कभी-कभी कुछ लोगों में यह क्रिया जल्दी होने लगती है। दवाइयों का सेवन केवल उस स्थिति में करना चाहिए जब एंडोक्राइन ग्लैंड में कुछ खराबी के कारण आपका कद ना बढ़े। किसी भी बच्चे या युवक के आहार पर खास ध्यान रखना जरूरी है। यह उसके जीवन का वो हिस्सा होता है जब वो सबसे अधिक और सबसे शीघ्र शारीरिक विकास पाता है। प्रोटीन के अलावा उसके आहार में कैल्शियम और फास्फोरस भी सही मात्रा में होना चाहिए क्योंकि ये उसके हड्डियों को मजबूत बनाता है।

आजकल के बच्चों पर माता-पिता आहार के मामले अधिक दबाव नही देते हैं। टी.वी. और दोस्तों के विचारों से प्रभावित होकर वो बाहर का आहार तथा फास्ट फूड ज्यादा खाते हैं। फ़ास्ट फूड वास्तव में किसी भी प्रकार से एक बच्चे या युवक को सम्पूर्ण पोषण नही प्रदान करता है। यदि इस उम्र में वो प्रोटीन युक्त तथा मिनरल और विटामिन से भरपूर पौष्टिक आहार नही खाता है तो निश्चय ही उसका कद और शारीरिक विकास थम जाएगा और वो अपने शरीर के पूर्ण विकास की सीमा को नहीं पा सकेगा। अर्थात इस समय बच्चों और माता पिता दोनो को उसके आहार पर खास ध्यान देना चाहिए। माता पिता को अपने बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए कि वो पौष्टिक आहार खाए और कम से कम फास्ट फुड खाए।

एक और आवश्यक तत्व जो मनुष्य के कद को निर्धारित करता है वो है- नींद। बढ़ते बच्चों के लिए रोजाना 8 घंटों की नींद जरूरी है। नींद के दौरान मनुष्य के शरीर में ग्रोथ हार्मोन का निर्माण बढ़ जाता है जिसके प्रभाव से वो शारीरिक विकास पाता है। बच्चों को खेल कूद और शारीरिक क्रियाओं में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। खेल कूद और व्यायाम पर भी आपका कद तथा शारीरिक विकास निर्भर करता है। इसलिए दवाइयों और हार्मोन पर निर्भर करने से अच्छा यह है कि आप अपने आहार, जीवन शैली तथा व्यायाम पर अधिक ध्यान दें क्योंकि प्राकृतिक तौर से कद बढ़ाना सुरक्षित और असरदार तरीका होता है। दवाइयों से साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं तथा हार्मोन से शरीर को नुकसान पहुँच सकता है।

आशा करता हूँ मैंने (अपना कद कैसे बढ़ा सकते है? | How to Increase Your Height?) से जुड़े सभी सवालों और उलझन को कुछ हद तक दूर कर दिया होगा। अगर अभी भी आपका कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *