Natural testosterone booster

Natural testosterone booster

टेस्टोस्टेरोन(testosterone) जिसे पुरूष हार्मोन या मेल हार्मोन बोलते है। यह पुरुषो में यौनक्रिया, प्रजनन सम्बन्धी कार्यों, आवाज का मोटा होना , मांसपेशीय का विकास, बालों की वृद्धि, प्रतिस्पर्धी व्यवहार और अन्य इसी प्रकार की कई चीज़ों से सम्बंधित होता है। सामान्य तौर पर उम्र बढ़ने के साथ टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट देखने को मिलती है। 20 से 35 वर्ष की आयु के बीच टेस्टोस्टेरोन का स्तर अपने शिखर पर होता है और इसके बाद धीरे-धीरे घटता जाता है। ये व्यक्ति-व्यक्ति पर निर्भर करता है कि उसका टेस्टोस्टेरोन का स्तर किस उम्र से कम होना शुरू हो जाए। आज कल तनाव, ज्यादा चिन्ता और काम के दबाव के कारण भी लोगो का टेस्टोस्टेरोन का स्तर नीचे होना शुरू हो गया है जिस उम्र में ये (Natural testosterone) अपने चरम शिखर पर होना चाहिए उस उम्र में आज लोगो का टेस्टोस्टेरोन का स्तर बहुत कम पाया जा रहा है।
बॉडीबिल्डिंग और फिटनेस की दुनिया में टेस्टोस्टेरोन(testosterone) का बहुत महत्व है जैसा कि हमने पहले बताया कि इसका हमारी मासपेशियो के विकास करने में सबसे बड़ा रोल है इसलिए जो लोग अपनी बॉडी बनाना चाहते है या बॉडीबिल्डिंग के खेल को अपना पेशे बनाना चाहते है वो अपने टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने के लिए बहुत से साधन करते है क्योंकि जितना आपका टेस्टोस्टेरोन स्तर ऊपर होगा उतना अच्छा ही आपको बॉडीबिल्डिंग में रिजल्ट मिलेगा उतना ही अच्छा आपकी मासपेशियो पर प्रभाव होगा। आज कल युवा इसके लिए बहुत से testosterone steroids का प्रयोग करने लगे है जिनसे उनका टेस्टोस्टेरोन स्तर बहुत ऊपर चला जाता है और उनको बहुत जल्दी अपनी मासपेशियो असर दिखना शुरू हो जाता है रातो रात आपको असर दिखना शुरू हो जायेगा किन्तु अपने जल्दी असर के चक्कर में वो इसके होने वाले बुरे दुष्प्रभाव को अनदेखा कर जाते है जिससे बाद में उन्हें बहुत पछताना पड़ता है।

स्टेरॉइड्स(steroids) के दुष्प्रभाव के बारे में हम आपको अपने आने वाले लेखों में बताएँगे अभी testosterone steroids की बात करें तो जब आप testosterone steroids लेते है तो ये आपके टेस्टोस्टेरोन स्तर दो से तीन गुणा बढ़ा देता है और आपकी मासपेशियो में अच्छी बनावट आनी शुरू हो जाती है। अब होता ये है कि जब तक आप इन स्टेरॉइड्स को लेते जाते है आपकी मासपेशिया विशाल होती चली जाती है क्योंकि आपका टेस्टोस्टेरोन आपकी इसमें मदद कर रहा है परन्तु जैसे ही आप इन testosterone steroids को लेना छोड़ते है आपका टेस्टोस्टेरोन स्तर एक दम से नीचे जाने लगता है और इसका सबसे बुरा प्रभाव ये है कि इसके बाद आपका प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन के स्तर से भी बहुत नीचे चला जाता है जो एक बहुत ही बुरी हालत है। आपकी मांसपेशी तो कम होगी ही आपकी सेक्स लाइफ भी मुसीबत में आ जाएगी क्योंकि टेस्टोस्टेरोन से ही आप यौन क्रिया करने लायक होते है। इसलिए जितना हो सके इन testosterone steroids से बचे और इनका प्रयोग न करें।

अब आपको मसल्स बनानी है तो आपको अपना टेस्टोस्टेरोन का स्तर अच्छा बना कर रखना होगा। इस प्रक्रिया में सबसे पहले आपको अपने आहार और जीवन शैली में बदलाव करने होंगे यही सही तरीका है अपने टेस्टोस्टेरोन का स्तर प्राकृतिक तरीके से बढ़ाने के लिए। इसके लिए हम आपको कुछ तरीके बतायंगे जिनसे आप प्राकृतिक रूप से अपने टेस्टोस्टेरोन स्तर (Natural testosterone booster) को सही रख सकते है।

सबसे पहले आप अपना लैब में टेस्ट कर के ये पता कर ले कि आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम है भी या नहीं। इसके बाद आपको ये सब तरीको की जरुरत पड़ेगी।

  1. जिंक से भरपूर आहार लेना- जिन लोगो में जिंक की कमी होती है उनमें टेस्टोस्टेरोन(testosterone) का स्तर बहुत कम पाया जाता है। 1996 के एक अध्ययन के अनुसार 5 महीने तक कुछ लोगो को बिना जिंक का खाना दिया गया तो उनके टेस्टोस्टेरोन(testosterone) स्तर में 50% तक गिरावट पायी गयी। एक और अध्ययन के अनुसार जिन लोगो के शरीर में पर्याप्त मात्रा में जिंक होता है उनका टेस्टोस्टेरोन(testosterone) स्तर एक नार्मल इंसान से बहुत अच्छा होता है। आहार में जिंक से भरपूर आहार को अपने प्रतिदिन के भोजन में सम्मलित करें जैसे मूंगफली, ड्राई फ्रूट्स, पालक, कद्दू, सूरजमुखी, और तिल के बीज, बादाम, साबुत अनाज, लहसुन, मशरुम, अलसी, फलियां(beans), ऑइस्‍टर और अंडे की जर्दी। अगर आप अपने भोजन से जिंक की मात्रा पूरी नहीं कर पा रहे है तो आप जिंक सप्लीमेंट भी ले सकते है।
  2. अपने विटामिन डी का स्तर को सही करना- एक अध्य्यन के अनुसार टेस्टोस्टेरोन(testosterone) का स्तर में विटामिन डी का बहुत बड़ा योगदान है यह आपके शुक्राणु कोशिका के विकास, और वीर्य की गुणवत्ता और शुक्राणुओं की संख्या में बनाए रखने में मदद करता है। अगर आपका वजन बड़ा हुआ है तो आपका टेस्टोस्टेरोन(testosterone) का स्तर काफी कम होता है किन्तु एक और अध्ययन में अधिक वजन वाले पुरुषों के को जब विटामिन डी की सही खुराक दी गयी तो एक वर्ष के बाद टेस्टोस्टेरोन का स्तर में उल्लेखनीय वृद्धि पायी गयी। आपको टेस्ट करवा कर ये चेक कर लेना चाहिए कि आपका विटामिन डी का स्तर कम तो नहीं है। आजकल लोगो में विटामिन डी की बहुत कमी हो रही है इसका बहुत बड़ा कारण है सूरज की रोशनी या धूप से दूर रहना। सूरज की रोशनी सबसे बढ़िया जरिया है विटामिन -डी की पूर्ति के लिए। इसके अलावा आहार की बात करे तो फैटी मछली (Fatty fish), संतरे का रस, सोया दूध, पनीर, अंडे की जर्दी, पाश्चराइज्ड दूध, कॉड लिवर तेल, ओटमील इत्यादि। इसके लिए भी बहुत से सप्लीमेंट्स आते है जिनका आप प्रयोग कर सकते है।
  3. वजन कम करें- अधिक वजन वाले पुरुषों का टेस्टोस्टेरोन का स्तर काफी कम पाया जाता है और जब आप अपने वजन को कम करना शुरू करते है तो आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर भी बढ़ने लगता है। इसको आप ऐसे भी समझ सकते है कि जैसे जैसे आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होता जायेगा आपका वजन बढ़ता चला जाएगा। तो आपको उन सब खाने की चीजो को कम या बिलकुल नहीं लेना है जिनसे शरीर में वसा(Fat) बढ़ता है जैसे जंक फूड, तला हुआ खाना, अल्कोहल और ज्यादा मीठा खाना इत्यादि
  4. व्यायाम और वेट ट्रेनिंग करें- जो लोग प्रतिदिन व्यायाम या वेट ट्रेनिंग करते है उनमें टेस्टोस्टेरोन का स्तर बहुत अच्छा पाया जाता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि शारीरिक गतिविधि जैसे व्यायाम और वेट ट्रेनिंग करने से टेस्टोस्टेरोन के स्तर वजन घटाने के लिए डाइटिंग करने की तुलना में अधिक फायदेमंद होता है। कम से कम 30 मिनट प्रतिदिन व्यायाम या वेट ट्रेनिंग करनी चाहिए। वेट ट्रेनिंग में भारी वजन से वर्कआउट करने से टेस्टोस्टेरोन बूस्ट होता है विशेष रूप से पैरो के वर्कआउट (Leg workout) से आपके टेस्टोस्टेरोन पर विशेष फायदा मिलता है जो आजकल के नोजवान बहुत कम करते है।
  5. अच्छी और पूरी नींद लें- अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित शोध से पता चला है कि अगर आप नींद पूरी नहीं ले पा रहे है तो आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो सकता है। अगर आप रात प्रति रात 5 घंटे की नींद लेते हैं तो लगभग 15% टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम देखा गया है वही हर 1 घंटे की ज्यादा नींद से इसमें 15% की बढ़ोतरी पायी गयी है। इसलिए अगर आप अपना टेस्टोस्टेरोन का स्तर सही रखना चाहते हैं तो 6 to 8 घंटे की सही नींद जरूर ले।

इन कुछ नियमो को अपने आहार और दिनचर्या में शामिल करने से आप अपना टेस्टोस्टेरोन का स्तर सही (Natural testosterone booster) बना कर रख सकते है। अगर आप अपने आहार से सही पोषण नहीं ले पा रहे है तो आप कुछ सप्लीमेंट्स के जरिये से भी इनकी पूर्ति कर सकतें है। अपने अगले लेख में हम आपको उन सब सप्लीमेंट्स के बारे में बताएँगे।

सप्लीमेंट जो टेस्टोस्टेरोन का स्तर को बढ़ाने में मदद करते है (Best Supplements to Boost Testosterone Levels)

 

ध्यान दें:– आपसे अनुरोध है कि यहाँ बताये गए तरीको का प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर / वैद्यराज की सलाह जरूर ले। उपरोक्त वर्णित सभी जानकारी अनुभव एवं अनुशंधान के आधार पर लिखी गई हैं, जानकारी के अनुसार किये जाने वाले प्रयोग या उपायों कि प्रामाणिकता एवं लाभ-हानि की जिन्मेदारी संपादक की नहीं हैं।

अगर आपको हमारा ये लेख – “टेस्टोस्टेरोन का स्तर प्राकृतिक तरीके से कैसे बढायें?(How to increase testosterone level naturally?)” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।

3 Comments

  1. […] लेख में हमने बताया कि टेस्टोस्टेरोन का स्तर प्राकृतिक तरीक… कुछ लोग अपने आहार से सभी पोषक तत्व […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: